पीएम मोदी अपने जन्मदिन पर देशवासियों को देने जा रहे हैं ये ख़ास तोहफ़ा, इस तोहफे में..

पीएम मोदी देश के प्रधानमंत्री बनने के बाद से एक पल भी शांति से नहीं बैठे हैं। वह हर समय देश की भलाई और विकास के बारे में सोचते हैं। यही वजह है कि मोदी सरकार में देश के अन्दर कई ऐसे काम हुए हैं, जो अन्य सरकारों ने नहीं किया था। पीएम मोदी देश की विदेश नीति के तहत उन देशों की यात्राएं की जहाँ पहले कोई नहीं गया था। इससे उस देश के साथ एक अच्छा रिश्ता बनाने में मदद मिली।

अपने फैसले पर अडिग रहे पीएम मोदी:

Surgical strike on black Money

इसके साथ ही उन्होंने देश के हित के लिए कई तरह की योजनायें चलायी और कई बड़े कदम उठाये। उन्होंने नोटबंदी जैसा बड़ा कदम उठाया। इस कदम की काफी लोगों ने तारीफ़ की तो वहीँ इसकी आलोचना करने वालों की भी कमी नहीं थी। लेकिन पीएम मोदी अपने फैसले पर अडिग रहे। कुछ दिनों की परेशानियों के बाद सब कुछ सामान्य हो गया। नोटबंदी के बाद से काला धन रखने वालों की नींद उड़ गयी है।

पीएम मोदी मनाएंगे अपना 67वाँ जन्मदिन:

पीएम मोदी देश के अन्दर बुलेट ट्रेन लाना चाहते हैं। यह काम वह ख़ास दिन करना चाहते हैं। पीएम मोदी का जन्मदिन नजदीक है। पीएम मोदी अपना 67वाँ जन्मदिन 17 सितम्बर को मनाएंगे। सम्भावना है कि इसी दिन पीएम मोदी अपनी बहुप्रतीक्षित बुलेट ट्रेन की आधारशिला अहमदाबाद में रखेंगे। आधिकारिक सूत्रों की मानें तो मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना जापान के शिन्कान्सेन तकनीक पर आधारित है।

जापान कर रहा है बुलेट ट्रेन परियोजना का वित्तपोषण:

आपको बता दें देश के लोग प्रधानमंत्री की बुलेट ट्रेन का कई सालों से इंतज़ार कर रहे हैं। पीएम मोदी ने देश की सत्ता सँभालने के साथ ही यह कह दिया था कि वह इस देश में जल्द ही बुलेट ट्रेन लायेंगे। अब लग रहा है कि वह अपने जन्मदिन के दिन ही देशवासियों को तोहफा देंगे। इस काम में भारत की मदद जापान कर रहा है। बताया जा रहा है कि दोनों देशों के संयुक्त उपक्रम के तौर पर बनने वाली इस हाईस्पीड ट्रेन की लागत लगभग 97636 करोड़ रूपये हैं। जिसका वित्तपोषण जापान कर रहा है।

भारतीय रेलवे इतिहास का सबसे क्रांतिकारी कदम:

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे सितम्बर के मध्य में भारत आने वाले हैं। यह एक संयोग की कहा जायेगा कि पीएम मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे जा जन्मदिन सितम्बर में ही पड़ता है। पीएम मोदी का जन्मदिन 17 सितम्बर और शिन्जों अबे का जन्मदिन 21 सितम्बर को है। सूत्रों की मानें तो इन्ही दोनों के जन्मदिन के बीच में ही भारतीय रेलवे इतिहास का सबसे क्रांतिकारी कदम उठाया जायेगा। जी हाँ यानी बुलेट ट्रेन परियोजना का उद्घाटन किया जायेगा।