आरक्षण के खिलाफ भारत बंद, बिहार में उपद्रवियों ने की जमकर फायरिंग

एससी एसटी एक्ट में हुए बदलाव को लेकर देशभर में हुई हिंसा की आंच अभी ठंडी ही नहीं हुई कि एक बार फिर से भारत बंद का माहौल देखने को मिल रहा है। जी हां, भारत बंद के तहत देशभर में प्रदर्शन जारी है। प्रशासन ने इस भारत बंद को गंभीरता से लेते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं। बता दें कि सरकार ने इसको लेकर पहले ही कड़े इंतजाम के आदेश दे दिये थे, लेकिन इन सबके बावजूद देश के कोने कोने प्रदर्शनकारियों ने उत्पात मचा के रखा है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में  क्या खास है?

दलित आंदोलन के बाद इस बार आरक्षण के खिलाफ आंदोलन किया जा रहा है। जी हां, इसमें प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों की मांग है कि आरक्षण को जाति के आधार पर खत्म किया जाए, बल्कि इसे आर्थिक आधार पर नये सिरे से लागू किया जाए। आरक्षण के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी जमकर नारेबाजी करते हुए नजर आ रहे है। बताते चलें कि देश के कई इलाकों में धारा 144 लागू की गई है, तो कहीं पूरी तरह से कर्फ्यू लगा दिया गया है। सरकार इस बार किसी भी तरह की कोई हिंसा नहीं चाहती है, जिसकी वजह से सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गये हैं।

गौरतलब है कि दलित आंदोलन के दौरान देश भर से हिंसा की खबरों ने सबको झकझोंर के रख दिया था, तो ऐसे में अब सरकार पहले से ही चौकन्नी नजर आ रही है। इसके बावजूद प्रदर्शनकारियों ने रेल सेव को बाधित किया है। तो वहीं बिहार के आरा इलाके में हिंसा का व्यापक रूप देखने को मिल रहा है। जी हां, यहां प्रदर्शन कर रहे दो गुटो में झड़प  देखने को मिला, जिसके बाद फायरिंग भी की गई। इतना ही नहीं, बिहार से आगजनी की भी खबरें सामने आ रही है, जिसकी वजह से कानून व्यवस्था को लेकर एक बार फिर से सवाल खड़े हो रहे हैं।

बताते चलें कि राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश के कई इलाकों में इंटरनेट सेवाएं बाधित की गई है। सरकार ने इसे सुरक्षा के लिये उठाया गया कदम बताया है, क्योंकि इन इलाकों में होने वाली हिंसा की घटना देशभर को प्रभावित करती है, ऐसे में किसी भी तरह की अफवाहे सोशल मीडिया से न फैले, इसके लिए सरकार ने इंटरनेट सेंवाएं बाधित कर दी है। इन सबके बीच भारी संख्या में युवा इस बात की मांग कर रहे हैं कि आरक्षण को जाति के आधार पर खत्म किया जाए, क्योंकि अब देश बदल रहा है, ऐसे में जरूरत मंद को ही आरक्षण मिले, यही नये भारत की नयी पहचान होगी।