मायावती का योगी सरकार पर वार, ‘एनकाउंटर की आड़ में दलितों को मार रही है बीजेपी’

सूबे की कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए भले ही एनकाउंटर का सहारा ले रही हो, लेकिन ये बात विपक्ष को खटक रही है। जी हां, एनकाउंटर को लेकर एक बार फिर से मायावती ने बीजेपी पर करारा हमला बोला है। मायावती ने बीजेपी पर दलितों और निर्दोंषों को मारने का आरोप लगाया है। मायावती ने शुक्रवार को कहा कि बीजेपी दलितों को मारकर उसके मसीहा होने का चोला पहन रही है, लेकिन जनता सब देख रही है। बता दें कि दलित आंदोलन के बाद से ही दलितों को लेकर देश भर में राजनीति अपने चरम पर है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी पर शुक्रवार को बड़ा आरोप लगाया है। मायावती ने केंद्र की मोदी औऱ राज्य की योगी सरकार पर बड़ा हमला किया है। मायावती ने कहा कि बीजेपी दलित समाज के दिलेरो को मार रही है। इतना ही नहीं, मायावती ने आगे कहा कि बीजेपी दलितों से इतना नफरत करती है कि दलित युवाओं को एनकाउंटर की आड़ में मार रही है, जोकि बीजेपी के चेहरे पर चढ़े नकाब को उतारने के लिए काफी है। इस दौरान उन्होंने योगी सरकार से बड़े सवाल भी किये।

मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दलितों के लिए साथ अत्याचार और उत्पीड़न हो रहा है, जोकि सूबे की सरकार यानि योगी सरकार कर रही है, ऐसे में योगी सरकार को इसका जवाब देना चाहिए कि एनकाउंटर के बाद दलितों को जातीय घृणा क्यों झेलनी पड़ रही है? ऐसे में मायावती ने कहा कि सीएम योगी को इसका संतोषजनक उत्तर देना चाहिए, क्योंकि ये दलित समाज का मुद्दा है और हम ऐसे ही चुप बैठने वालों में से नहीं है। मायावती ने आगे कहा कि यूपी सरकार अब शर्मनाक गुजरात मॉडल के तहत का कर रही है, जिसमें निचले तबकों को खत्म करने का काम किया जा रहा है।

भारत बंद आंदोलन को लेकर भी मायावती ने बीजेपी को आड़े हाथों लिया। जी हां, मायावती ने कहा कि दलितों के इस आंदोलन को हिंसा में बदलने की साजिश की गई है, वरना तो दलित सिर्फ अपने अधिकार के लिए लड़ रहे थे, लेकिन किसी ने साजिश के तहत इस आंदोलन को बदनाम करने की साजिश की है। इसके साथ ही मायावती ने यह भी कहा कि दलित आंदोलन के दौरान भी सरकारी ताकत देखने को मिला। इसके लिए मायावती ने कहा कि निर्दोष लोगों को सरकारी ताकतों ने गिरफ्तार किया, ये सिर्फ प्रताड़ना के लिए किया गया, ऐसी मंशा दलितो ंकी नहीं थी।