बलोच में पाकिस्तानी सेना की शर्मनाक हरकत – नागरिकों के घरों में लगाई आग, महिलाओं को किया अगवा

नई दिल्ली: पाकिस्तान के बलोच में पाकिस्तानी सेना के शर्मनाक हरकतों की कुछ नई तस्वीरें सामने आई है। खबर है कि पाकिस्तानी सेना ने बलूचिस्तान के कई इलाकों में सैन्य कार्रवाई की है और कई लोगों का अपहरण किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने इस ऑपरेशन के दौरान बलोच नागरिकों पर बेइंतहा जुल्म ढाए गए है। इस दौरान महिलाओं को सेना ने अगवा किया है।

अंधाधुंध गोलीबारी कर रही है पाक फौज –

बलोच रिपब्लिकन पार्टी के प्रवक्ता शेर मोहम्मद बुग्ती के मुताबिक पाकिस्तान के सशस्त्र सुरक्षाबलों की ओर से की गई अंधाधुंध गोलीबारी में एक बेकसूर बलोच की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी बलों ने छेतार,शिरानी, होती और नसीराबाद से सटे हुए इलाकों में सैनिक कार्रवाई की है। बुग्ती ने कहा कि जिस इलाके में बलोच नागरिक की मौत हुई है वहां हेलिकॉप्टरों ने अंधाधुंध बमबारी की है।

चीन की मदद से पाकिस्तान कर रहा है ऐसा –

बलूचिस्तान की आजादी के लिए संघर्ष कर रहे एक बलूच नेता ने कहा है कि चीन की मदद से पाकिस्तान हम पर अत्याचार कर रहा है। बलूच नेता ने आरोप लगाया कि चीन द्वारा बनाया जा रहा आर्थिक गलियारा वास्तव में आतंकवादी गलियारा है।

बलूच नेता मजदक दिलशाद बलूच ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुखपत्र ‘ऑर्गनाइजर’ से बातचीत में कहा कि पाकिस्तान चीन की मदद से बलूचिस्तान में बड़े स्तर पर जनसंहार कर रहा है। पाकिस्तान और चीन बलूच लोगों के गांव जलाकर उन्हें आतंकित कर रहे हैं। इस कारण बड़ी संख्या में बलूचों की आबादी यहां से विस्थापित हो गई है। दिलशाद ने पाकिस्तानी सेना को सबसे बड़ा आतंकवादी करार दिया।

मोदी के बयान से बदले हालात –

दिलशाद ने कहा, बलूच लोग 70 सालों से आजादी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। हर बार हमारी आवाज को दबा दिया जाता है। लेकिन इस बाद 15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से बलूचिस्तान के मानवाधिकार की बात उठाई तो उसके बाद हालात बदल गए हैं।