जब फेरे लेने से पहले दुल्हन ने दुल्हे का देखा हाथ, तो बोली- ‘अब नहीं करनी ये शादी’

झारखंड: हमारे भारत देश में शादी को अहम और सबसे पवित्र रिश्ता माना जाता है. मगर आजकल की नई पीढ़ी के शादी को लेकर लाखों सपने हैं. ऐसे में अगर उनके उन सपनो में से एक सपना भी अधूरा रह जाए तो वह शादी उनके लिए एक बोझ बन जाती है. हालांकि, दुनिया में कोई भी परफेक्ट नहीं है. हर किसी में कोई ना कोई कमी जरुर होती है. मगर किसी की कमी के चलते उसको ठुकरा देना एक पाप के बराबर माना जाता है. कुछ ऐसी ही एक अजीबोगरीब मामला हाल ही में हमारे सामने आया है. जहाँ, झारखंड के बड़बिल थाना क्षेत्र में हो रही शादी में अचानक उस समय बवाल मच गया जब दुल्हन ने दूल्हे के हाथ देख कर.

हाथ देख किया शादी से इनकार

दरअसल, शादी के इस खुशनुमा माहोल में सब कुछ ठीक चल रहा था और फेरों की शुरुआत होने वाली थी. मगर उसी वक़्त अचानक दुल्हन की नजर दुल्हे के हाथ पर चली गई. जहाँ उसने दुल्हे की एक ऊँगली कटी महसूस की. जिसके बाद दुल्हनिया ने शादी से इनकार कर दिया. दुल्हन के इस फैसले को जान कर वहां मौजूद सभी लोग दंग रह गए. रात भर जद्दोजहद के बाद भी जब मामला शांत नहीं हुआ तो वहां पुलिस को बुलाना पड़ गया. पुलिस के आने के बाद दोनों की सहमती करवाई गई जिसके बाद दूल्हा और दुल्हन ने साथ जीने मरने की कसमें खाईं.

बैंड बाजे के साथ किया गया था बारात का स्वागत

मिली जानकारी के अनुसार आदित्यपुर के निवासी अमित की शादी गालूडीह थाना क्षेत्र के बड़बिल गांव में तय हुई थी. मंगलवार को 60-70 लोगों की ये बरात लड़की के गाँव पहुंची. जिसके बाद लड़की वालों ने उनका स्वागत बैंड बाजे के साथ किया. सभी बेहद खुश थे और नाच गा रहे थे. मगर अचानक उनकी खुशियों को नजर लगने वाली है. ऐसा किसी ने नहीं सोचा था. रात के करीब 2 बजे दोनों दूल्हा दुल्हन का सामना स्टेज पर हुआ. जिसके बाद सिन्दूर दान की रस्म की शुरुआत की गई. ठीक उसी समय लड़की की नजर दुल्हे के हाथ पर पड़ गई और उसने शादी से साफ़ इनकार कर दिया.

दुल्हे की बिमारी का था शक 

दुल्हे की कटी हुई ऊँगली देख कर नई नवेली दुल्हन काफी सहम चुकी थी. जिसके बाद उसने अपने परिवार वालों को दुल्हे के बारे में बताया. लड़की पक्ष के अनुसार उन्हें दुल्हे की किसी बिमारी की आशंका थी. जिसके बाद रात 3:00 बजे से लेकर 6:00 बजे तक दोनों पक्षों में खूब बहस हुई. शादी जब टूटने की कगार पर पहुँच गई तो लड़की के माँ’ बाप डर गए.  उन्हें लगा कि बारात लौटने से उनकी बदनामी हो जाएगी इसलिए उन्होंने शादी करने का फैसला कर लिया.

वहीँ दुल्हे के रिश्तेदारों ने इस बहस को अपनी बेइजती समझ कर बारात वापिस लेजाने का फैसला कर लिया. बारात जब बिना शादी जाने लगी तो कुछ ग्रामीणों ने  दूल्हे की गाड़ी के आगे मोटरसाइकिल खड़ा करके आगे बढ़ने से रोक दिया और दोनों पक्षों की सुलह से शादी संपन्न की गई. वहीँ दुल्हे अमित ने बताया कि उसको कोई बिमारी नहीं थी. उसकी ऊँगली बहुत पहले एक मशीन में फंस कर कट गई थी मगर अब इसमें कोई खतरे वाली बात नहीं है.