राजस्थान उपचुनाव में बीजेपी को मिली करारी शिकस्त, राहुल बोले ‘जनता ने किया खारिज’

राजस्थान: इसी साल राजस्थान में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं, ऐसे में बीजेपी के लिए ये टेंशन की खबर हो सकती है। बता दें कि विधानसभा चुनाव से पहले हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी को जबरदस्त मात दी है, जोकि बीजेपी के लिए राहत की खबर तो कतई नहीं हो सकती है। सवाल ये नहीं है कि उपुचनाव जीत से कांग्रेस पार्टी मजबूत हो रही है, सवाल तो ये है कि क्या बीजेपी अपनी इस हार का मुंह तोड़ जवाब कांग्रेस को आगामी चुनाव में दे पाएगी? आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

एक तरफ वित्तमंत्री अरूण जेटली संसद में बजट पेश करके वाहवाही बटोर रहे थे, तो वहीं दूसरी तरफ राजस्थान में बीजेपी के उम्मीद्वारोंं को धूल चाटनी पड़ रही थी। बता दें कि राजस्थान में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुए थे, जिसके नतीजे गुरूवार को आएं, जिसमें तीनों सीटों पर कांग्रेस बीजेपी को मात दी। जिसके बाद कांग्रेस में जश्न का माहौल देखने को मिला तो वहीं दूसरी तरफ राजस्थान की मुख्यमंत्री वंसुधरा राजे अपनी हार को स्वीकार करती हुई नजर आई।

कांग्रेस की जीत पर राहुल गांधी ने राजस्थान की कांग्रेस पार्टी को बधाई देते हुए कहा कि बीजेपी को जनता ने खारिज कर दिया है। दरअसल, राजस्थान बीजेपी का गढ़ माना जाता है, ऐसे में बीजेपी की हार यहां तब हुई है, जब सत्ता में उसकी सरकार है। इस लिहाज से ये हार भले ही तीन सीटों पर ही क्यों न मिली हो, लेकिन बीजेपी के लिए बड़ी साबित हो सकती है। हालांकि सीएम राजे ने इसे जनता का फैसला मानते हुए हंसते हंसते भले ही स्वीकार कर लिया हो लेकिन बीजेपी के लिए राजस्थान में ये खतरे की घंटी मानी जा रही है।

दरअसल, आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस उपचुनाव को सेमीफाइनल माना जा रहा था, ऐसे में बीजेपी को यहां तीनों सीटों पर हार का सामना करना पड़ा। बता दें कि इन तीनों सीटों पर चुनाव जीतने के लिए वसुंधरा ने अपनी पूरी कैबिनेट टीम लगा थी, जिसके बावजूद एक सीट भी बीजेपी के खाते में नहीं आई, जिसके बाद से बीजेपी में मायूसी छाई हुई नजर आ रही है। बीजेपी मायूस है तो कांग्रेस में उम्मीदों की लहर दिखाई दे रही है। बता दें कि राजस्थान के अलवर, अजमेर लोकसभा और मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी को जबर्दस्त जीत मिली है, जिसके बाद कांग्रेस ने जश्न भी मनाया।